विजय माल्या की प्रत्यर्पण वाली याचिका को ब्रिटेन कोर्ट ने किया रद्द

ब्रिटेन की कोर्ट से भगोड़े कारोबारी विजय माल्या को फिर एक बार फिर बड़ा झटका लगा है| सोमवार को ब्रिटेन कोर्ट ने विजय माल्या की प्रत्यार्पण रोकने वाली याचिका को पूर्ण रूप से रद्द कर दिया है| जिसके परिणाम ही अब लगभग विजय माल्या का भारत प्रत्यर्पण तय हो ही गया है | माल्या द्वारा लिखित बयानों को खारिज कर दिया गया है वह उसे मौखिक पक्ष रखने के लिए आधे घंटे के समय को निर्धारित किया गया है जिसमें वह अपना पक्ष रखेगा| याचिका को खारिज करने की पुष्टि इंडियन एक्सप्रेस द्वारा की की गई है| बताया जा रहा है की शराब कारोबारी माल्या के पास केवल सुप्रीम कोर्ट में ही अपील करने का विकल्प रह गया है|

बता दें की कारोबारी विजय माल्या पर भारतीय बैंकों के खिलाफ धोखाधड़ी और मनी लांड्रिंग जैसे घिनोने आरोप लगे हुए हैं | माल्या सजा भुगतने के डर से 2 मार्च 2016 से भारत से बाहर रह रहा है | जिस के कारण उसे भारत की कोर्ट ने भगोड़ा करार भी दे दिया था | विजय माल्या ने भारत के 13 बैंकों से लोन के रूप में 9 करोड़ का कर्जा लिया था | यह लोन उसने किंगफ़िशर एयरलाइन्स में सुधार करने के तहत लिया था | किंगफ़िशर के जहाजों पर 2012 में रोक लगा दिया गया था |
माल्या ने इन सभी आरोपों को स्वीकार करते हुए पिछले कुछ दिन पहले ही ट्वीट के माध्यम से भारतीय बैंकों को कहा था कि उसकी पूर्ण संपत्ति को बेचकर बकाया रकम वसूल सकती है यह रकम उसके कर्ज से अधिक है | साथ ही उसने कहा था की भारतीय बैंक उसके कर्ज से अधिक रकम वसूल भी चुकी है |